OTP क्या हैं? OTP Full Form क्या होती है? OTP के फायदे

नमस्ते दोस्तो, क्या आप जनना चाहते हैं कि OTP kya hai? – What is OTP in Hindi?, OTP Full Form क्या होती है. साथ हि साथ OTP के फायदे और नुकसान क्या क्या होते हैं।

तो इस पोस्ट मे हम आपको सरल भाषा में हम आपको समझायेंगे कि OTP kya hai? OTP Full Form क्या होती है? साथ हि साथ आपको यह भी बतायेंगे कि OTP के क्या क्या फायदे और क्या क्या नुकसान होते हैं?

OTP kya hai
OTP kya hai

तो चलिये जानते हैं कि OTP kya hai?  – What is OTP in Hindi?

OTP kya hai? – What is OTP in Hindi? और OTP Full Form क्या है?

OTP यानी की “One Time Password” इसकी Full form होती है। दरअसल OTP एक security code होता है जो कि 4 से 6 digits का हो सकता है। अलग अलग company का OTP कि digit अलग अलग होती है, कुछ का 4 अंक का होता हैं और कुछ के लिये 6 अंक का होता है।

अगर हम बात करे कि हमे OTP  कैसे प्राप्त होता है तो OTP हमे हमारे registered mobile number या email पर sms द्वारा प्राप्त होता है। जब भी हम कोई online transaction करते है या कोई अपना account login करते है और जब हम अपनी सारी जानकारी डाल देते है तो उस के बाद हमे OTP प्राप्त होत हैं।

जब तक हम इस OTP को नही डाल देते तब तक हमारा online transaction नही होता है। क्योंकि OTP किसी भी online transaction को कराने के लिये एक cover की तरह काम करता है।

दर असल OTP  उन्ही online transaction में काम आता है जहाँ पर two step verification लगे होते हैं और two step verification उन्ही online transaction के लिये इस्तिमाल किया जाता है जहाँ पर आपके अकाउंट को hack होने का खतरा हो या फिर आपके अकाउंट की प्राइवेसी लीक होने का डर हो।

अगर आप जनना चाहते है कि यह two step verification क्या होता है तो आप हमारे इस पोस्ट को पढ सकते हैं जहाँ पर हमने आप लोगो यह पूरी डिटेल से बताया कि two step verification क्या होता है यह कैसे काम करता है और इसकी हमे जरुरत क्यो होती हैं और यह हमारे लिये कितना जरूरी है।

Types of OTP

वैसे तो OTP के बहुत से प्रकार होते है जो कि website, account, bank, shoping, इत्यादि पर निर्भर करते है लेकिन इस पोस्ट मे हम आपको सिर्क OTP किस किस तरह से प्राप्त होता है इसी आधार पर वर्गीकरण करके बतायेंगे। जो कि हमारे जानना भी जरूरी और यही हमारे ज्यादा काम भी आता है।

अगर हम यह वर्गीकरण करे कि हमे OTP कितने तरह से प्राप्त होता है तो इसका सीधा सा जवाब है OTP हमे तीन तरह से प्राप्त होता है।

1.            SMS के द्वारा

2.            Call के द्वारा

3.            Email के द्वारा

यही तीन तरीके हैं जिनकी मदद से OTP को भेजा जाता है और आपके अकाउंट को verify किया जाता है। लेकिन अलग अलग अकाउंट के लिये यह condition अलग अलग हो सकती है। या फिर बहुत सारी ऐसी भी कम्पनी है जो कि हमे यह option देती है कि जि भी तरह से चहो आपको हम OTP भेजेंगे चाहे आप email के जरिये से OTP लिजिये या फिर sms के जरिये बस आपका OTP सही होना चाहिये।

OTP का इस्तिमाल क्यो किया जाता है?

जैसा कि मेने आपको पहले हि बता दिया है कि OTP का इस्तिमाल इस लिये किया जाता है कि कोई भी अन्य व्यक्ति हमारे अकाउंट से online transaction नही कर पाये।

क्योंकि कई बार ऐसा भी होता है कि हमारे अकाउंट कि Id और Password किसी दूसरे व्यक्ति को पता चल जाती है तो ऐसे में वो व्यक्ति हमारे अकाउंट से कोई भी online transaction कर सकता है। लेकिन अगर OTP का option हमारे अकाउंट मे दिया हुआ है तो ऐसे मे कोई दूसरा व्यक्ति तब तक हमारे अकाउंट को access नही कर सकता तब तक कि हमारे registered mobile number पर जो OTP आया है उसे नही डाल देते।

तो हम अगर सीधे शब्दो मे कहे तो कोई भी व्यक्ति ( चाहे फिर कोई हमारा जानकार हो या फिर कोई हैकर ) हमारे अकाउंट को तब तक access नही कर सकता है तब तक कि हम उसे अपना OTP नही दे देते और सबसे अच्छी बात OTP कि यह होती है कि प्रत्येक time जब भी कोई आपके अकाउंट को login करेगा तो उसको एक नया OTP डालना पडेगा।

तो आप को अब तो पता चल हि गया होगा कि OTP क्यो इस्तिमाल किया जाता है और हमारे लिये यह कितना जरूरी है।

OTP के फायदें – Advantages of OTP in Hindi?

One Time Password के वैसे तो बहुत सारे फायदे है लेकिन कुछ मुख्य निम्न प्रकार है

अकाउंट की सुरक्षा को बडाता है:

दरअसल यह एक प्रकार का सुरक्षा कोड होता है। जो कि हमारे अकाउंट के लिये एक सुरक्षा कवच की तरह काम करता है। ऐसा इस लिये कि अगर आपके अकाउंट के Id और Password कोई चुरा भी लेता है तो वो तब तक आपके अकाउंट को लोगिन नही कर सकता है तब कि आप उसे अपना OTP उसे नही बता देते।

तो हम इस तरह से कह सकते है चाहे आपके अकाउंट के Id और Password कोई चुरा हि क्यो ना ले जब तक वो OTP के option को भेद नही देगा तब तक वो आपके अकाउंट को लोगिन नही कर पायेगा।

मतलब यह कि जो यह कवच OTP का आपके अकाउंट पर लगा हुआ है इसे तो आपको भेदना हि पडेगा फिर चाहे आप कितने भी सही Id और Password सही डालो।

यूजर का प्रमाणिकरण

इसके द्वारा असली यूजर का प्रमाणिकरण आसानी से हो जाता है, क्योंकि OTP उस अकाउंट के जो असली युजर है उसके ही रजिस्टर मोबाइल पर भेजा जाता है। जिससे यह पता सिस्टम को लग जाता है कि जो युजर इस में कुछ बदलाव कर रहा है या कोई online transaction करना चाहता है।

तो ऐसे में उस युजर को OTP डालना पडेगा अगर वो सही OTP डाल देता है तो इसका मतलब यह कि वो इस अकाउंट का असली मालिक है।

तो अगर असली मालिक हि कुछ बदलाव करना चाहता है तो ऐसे मे सिस्टम को कोई भी दिक्कत नही है लेकिन अगर कोई आपके अकाउंट को हैक कर रहा है तो ऐसे मे सिस्ट्म आसानी उसे समझ जाता है और आपके अकाउंट मे कोई भी बदलाव नही करने देगा। फिर काहे वो पासवर्ड बदना हो कोई और काम आपके अकाउंट से कर रहा हो।

Spamming से बचाव

OTP का सबसे अच्छा काम होता है वो है किसी भी तरह के स्पेम होने से अकाउंट को बचाना, मान लिजिये कि हम अपने बैंक से किसी दूसरे अकाउंट मे पैसे भेजना चाहते है तो ऐसे में बैंक पैसे भेजने से पहले यह OTP जरिये से जानती है कि क्या सही में आप हि अपने अकाउंट से पैसे भेज रहे हैं या फिर कोई और स्पेमिंग कर रहा है।

इससे online ठगी के शिकार होने से हम बच जाते है और OTP का सबसे ज्यादा इस्तिमाल बैंकिंग सेक्टर मे हि किया जाता है।

Double Security Enable कर सकते है

OTP हमारे अकाउंट को Double Security प्रदान करता है पहला तो आपको अपनी Id और पासवर्ड डालने होते है। और दूसरा आपके नम्बर आया हुआ OTP भी आपको डालना पडेगा।

ऐसे हमारे अकाउंट से कोई online Transaction करने से पहले दो स्टेप पार करने होंगे उसके बाद हि आप अपने अकाउंट से कुछ online transaction कर पायेंगे।

और यह Double Security सिर्फ OTP कि मदद से हि हो पाता है अगर OTP का option नही होता है तो कोई भी वो व्यक्ति जो आपके अकाउंट का Id और पासवर्ड जानता हो वो आपके अकाउंट से कोई भी online ट्रांजेकशन कर सकता है।

फ्री और बहुत तेज

सबसे अच्छी बात OTP कि यह होती है कि यह सुविधा बिल्कुल फ्री होती है और अगर हम बात करे सर्विस की स्पीड कि तो यह बहुत हि ज्यादा तेज होती है जो कि कुछ हि सेकण्ड मे पूरी हो जाती है। इसके लिये आपको ज्यादा समय बर्बाद करने की जरूरत नही होती है।

आपने क्या सीखा?

मुझे उम्मीद है कि आपको हमारा यह पोस्ट one time password या OTP kya hai? और OTP full form क्या होती है। जरूर पसंद आयी होगी.

हमेशा हमारी यही कोशिश होती है कि हम हमारे Reader को सही और पूरी जानकारी अपनी इस वेबसाइट पर दे जिससे कि उनको अपनी जानकारी लेने के लिये किसी दूसरी वेबसाइट पर जाने कि जरुरत ना पडे और हम उनके कीमती समय को इस वेबसाइट की मदद से बचा सके.

लेकिन अगर फिर भी आपका इस पोस्ट को लेकर कोई सवाल हो या आपको लगता है कि हमे इस पोस्ट मे कुछ बदलाव करना चाहिये तो आप हमे कमेंट करके जरूर बताये।

2 thoughts on “OTP क्या हैं? OTP Full Form क्या होती है? OTP के फायदे”

Leave a comment