जानिए LLB क्या है? LLB कैसे करे?

क्या आप जानना चाहते है? LLB Course Details in Hindi में या LLB Kya Hai?LLB क्या है? LLB Full Form Hindi And English क्या होती है? LLB  कैसे करे? – LLB  Kaise Kare? LLB Karne Ke Liye Qualification क्या होना चाहिए है?

Fee For LLB In India यानि कि इसके लिये भारत मे कितनी फीस होतती है? Best Subject In LLB या फिर LLB से सम्बंधित आपका कोई और सवाल है।

तो आजके  इस पोस्ट मे  हम आपको इन सभी कि जानकारी देने वाले है तो चलिये आज के इस पोस्ट मे आगे बडते है और जानते है कि LLB Kya Hai? – LLB क्या है?

LLB Course Details in Hindi
LLB Course Details in Hindi

Table of Contents

LLB Course Details in Hindi – LLB Kya Hai? LLB क्या है?

एलएलबी जिसका फुल फॉर्म “Bachelor of Laws“है एलएलबी एक अंडरग्रेजुएट  डिग्री है जिसे कानून नियमों (Rules) और विनियमों (Regulations) का एक समूह है जिसके अंदर कोई भी समाज या देश चलता है यानि की संचालित होता है। बैचलर ऑफ लॉ एक अंडरग्रेजुएट डिग्री है जिसे कानून में पाठ्यक्रम या कार्यक्रम के लिए सम्मानित किया जाता है.

L.L.B. कानून की डिग्री एक छात्र को वकील बनने या कानूनी विभाग में काम करने के लिए योग्य बनाती है। बैचलर ऑफ लॉ एक 3 साल का कोर्स है जिसमें 6 पद शामिल हैं। LLB कोर्स 6 सेमेस्टर में बाटी गई है । एलएलबी (सामान्य) डिग्री दूसरे वर्ष के सफल समापन के बाद की पेशकश की है LLB डिग्री को 3 साल यानी 6 सेमेस्टर के पूरा होने के बाद ही प्रदान किया जाता है.

बैचलर ऑफ लॉ डिग्री इंस्ट्रक्शन सामग्री में सेमिनार, ट्यूटोरियल वर्क, मूट कोर्ट और प्रैक्टिकल ट्रेनिंग प्रोग्राम शामिल हैं। भारत में कई संस्थानों द्वारा बैचलर ऑफ लॉ डिस्टेंस एजुकेशन कोर्सेस भी प्रदान किए जाते हैं. भारत में कानूनी शिक्षा सर्वोच्च निकाय बार काउंसिल ऑफ इंडिया है।

यह बार काउंसिल भारत में कानूनी शिक्षा की प्रणाली की निगरानी और नियमन करता है। भारत में कई लॉ कॉलेज हैं जो उन छात्रों को LLB कोर्स करने के लिए देती जिसे अपना करियर वकालत में बनाना हो.

LLB Full Form Hindi And English – LLB Ka Full Form

तो चलिये अब जान लेते हैं कि LLB Full Form Hindi And English  मे क्या होती है क्योंकि इसके बारे मे हमे जानना बहुत हि जरूर्री है-

LLB Full Form In English – LLB की फुल फोर्म इन इंग्लिश

Now you know that the LLB Full Form is Bachelor of Laws – For the last couple of years LLB has seen a spurt of growth as far as the admissions to this course in India are concerned.

Gone are the days, when this profession was limited to family. Nowadays, due to the arising need for legal practitioners in the corporate sector , realty sector and more, LLB courses are quite in demand.

Even the future seems to be bright, because there are possibilities of foreign law firms establishing their offices in India. This would open many more doors of job opportunities for the Law students.

LLB Full Form in Hindi – llb full form meaning in hindi

LLB की फुल फॉर्म “Bachelor of Laws” होती है. LLB को हिंदी में “विधि स्नातक” कहते है. LLB को Latin भाषा में “Legum Baccalaureus” कहा जाता है.

LLB कानून और विधि से जुडी हुई Educational Degree है. LLB Course में छात्रों को Law की पूरी जानकारी दी जाती है. LLB Course करने के बाद छात्र वकील (Lawer) बन जाते है और फिर Court में मुकदमे लड़ते है.

LLB Course Details in Hindi – LLB Course in Hindi

अभी तक हमने LLB के बारे मे बेसिक जानकारी शेयर की है जैसे कि LLB क्या है? LLB की फुल फोर्म क्या होती है? लेकिन अब हम इस कोर्स के बारे मे पूरी जनाकारी शेयर करने जा रहे है तो हमे उम्मिद है कि आपको इस पोस्ट मे वो सभी जानकारी मिलेगी जो आप LLB के बारे मे लेना चाहते है तो चलिये जानते है-

LLB Kya Hai? – LLB क्या है?

एलएलबी जिसका फुल फॉर्म “Bachelor of Laws“है एलएलबी एक अंडरग्रेजुएट  डिग्री है जिसे कानून नियमों (Rules) और विनियमों (Regulations) का एक समूह है जिसके अंदर कोई भी समाज या देश चलता है यानि की संचालित होता है। बैचलर ऑफ लॉ एक अंडरग्रेजुएट डिग्री है जिसे कानून में पाठ्यक्रम या कार्यक्रम के लिए सम्मानित किया जाता है.

LLB  कैसे करे? – LLB  Kaise Kare? – LLB Course Details in Hindi

LLB करने के लिए आपको 12वीं या ग्रेजुएशन करने के बाद CLAT (Common Law Admission Test) प्रवेश परीक्षा देनी होती है। इस परीक्षा में पास होने के बाद आप लॉ कॉलेज में प्रवेश ले सकते है।

CLAT परीक्षा देने के लिए आपके 12वीं या ग्रेजुएशन में कम से कम 45% होना अनिवार्य है। भारत में LLB Entrance Exam CLAT का आयोजन NLU (नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी) और अन्य संस्थानों में प्रवेश के लिए किया जाता है।

LLB Course Details in Hindi के लिये 12वीं पास करें

एलएलबी कोर्स करने के लिए आपको 12th क्लास किसी भी स्ट्रीम से न्यूनतम 45% अंकों से पास करना है। 12th के बाद LLB कोर्स करने के लिए 5 वर्ष का कोर्स करना होता है और ग्रेजुएशन के बाद LLB करने के लिए 3 वर्ष का।

आप 12वीं किसी भी विषय में कर सकते है, यदि आप आर्ट्स (Arts) पढ़ते है तो यह आपके लिए बहुत ही अच्छा होगा, क्योंकि इस विषय में बहुत कुछ लॉ के बारे में भी पढ़ाया जाता है।

LLB Course Details in Hindi के CLAT की तैयारी करें

अगर आपको पता नहीं है तो हम आपको बता दें कि LLB कोर्स में प्रवेश पाने से पहले आपको CLAT एंट्रेंस एग्जाम देना होता है, उम्मीदवार इस परीक्षा को तभी दे सकते हैं जबकि वे 12वीं पास हों अथवा उनके पास स्नातक (ग्रेजुएशन) की डिग्री हो।

साथ ही CLAT प्रवेश परीक्षा को पास कर लेने के बाद ही वे LLB कोर्स को कर सकते हैं। जो उम्मीदवार इसमें पास हो जाते हैं, उन्हें भारत के कई प्रसिद्ध कॉलेजों द्वारा एलएलबी डिग्री प्रदान की दी जाती है।

LLB Course Details in Hindi के लिये CLAT एंट्रेंस एग्जाम

CLAT प्रवेश परीक्षा को पास करने के लिए आपको पहले इसके सिलेबस और एग्जाम पैटर्न को अच्छे से समझना होगा इसके बाद आप 2-3 वर्ष के प्रश्न पत्रों को सोल्व करके देखें, रोज प्रैक्टिस और रिविजन करें।

यह एग्जाम केवल इंग्लिश में ही होता है, जिसमें सही आंसर देने पर 1 मार्क्स मिलते हैं और गलत आंसर पर 0.25 मार्क्स काटे जाते हैं। इसलिए अगर आप सही स्ट्रेटेजी बनाकर CLAT की तैयारी करेंगे तो आप इस प्रवेश परीक्षा को जरुर पास कर सकते हैं, जिसके बाद आपको किसी अच्छे कॉलेज में एडमिशन मिल जाएगा। CLAT एंट्रेंस एग्जाम में निम्न टॉपिक पर प्रश्न पूछे जाते हैं जो कुछ इस प्रकार हैं-

  • लीगल एप्टीट्यूड (Legal Aptitude)
  • लॉजिकल रीजनिंग (Logical Reasoning)
  • जनरल नॉलेज और कर्रेंट अफेयर्स (General Knowledge or Current Affair)
  • एलेमेंट्री मैथ्स (Elementary Math)
  • इंग्लिश इन्क्लुडिंग कॉम्प्रिहेंशन (English Including Comprehension)

यह तो आप जान ही गए होंगे कि एलएलबी कोर्स 12th के बाद 5 साल का और ग्रेजुएशन के बाद 3 साल का होता है। LLB कोर्स के दौरान आपको कानून से जुड़े कई विषयों के बारे में पढाया जाता है।

लॉ की पढ़ाई करने के बाद अब आपको इंटर्नशिप (Internship) करना होगा। इसके दौरान आपको कोर्ट के बारे में सब कुछ सिखाया जाता है। जैसे- किसी पक्ष के लिए किस तरह से दो वकील आपस में केस लड़ते है।

इंटर्नशिप करने के बाद अब आपको State Bar Council में नामांकन (Enroll) करना होता है। नामांकन करने के बाद आपको All India Bar Examination को Clear करना होता है। जो Bar Council Of India (BCI) के द्वारा आयोजित किया जाता है। इसे क्लियर करने के बाद आपको प्रैक्टिस का Certificate मिलता है। इस तरह से आपकी एलएलबी की पढ़ाई पूरी हो जाती है।

LLB Course Details in Hindi – Qualification For LLB

वकील बनने के लिए या इसकी पढ़ाई करने के लिए आपके पास यह एलएलबी पात्रता होनी चाहिए तभी आप इसकी पढ़ाई कर सकते है। आइये जानते है LLB Karne Ke Liye Qualification क्या होना चाहिए है।

अगर आप 12वीं के बाद LLB की पढ़ाई करना चाहते है तो 12वीं के बाद एलएलबी कोर्स की अवधि पांच साल की होती है। यदि आप 12वीं के बाद LLB कर रहे है तो 12वीं में आपके 45% होना चाहिए।

आप ग्रेजुएशन के बाद भी Law कर सकते है जो कि 3 साल का होता है। इसके लिए ग्रेजुएशन में आपके कम से कम 45% अंक होना चाहिए। भारत में एलएलबी करने के लिए कोई आयु सीमा नहीं है।

LLB Course Details in Hindi के लिये मुख्य प्रवेश परीक्षा

एल.एल.बी के लिए प्रवेश परीक्षा देना आवश्यक है। जो अलग-अलग यूनिवर्सिटी द्वारा आयोजित की जाती है। जिनमें से कुछ प्रवेश परीक्षाएं निम्न है:

  • CLAT
  • AILET
  • LSAT
  • DU इंट्रेंस
  • AIBE
  • ILSAT
  • ILI CAT

Entrance Exam की मदद से

LLB करने के लिए आपको किसी भी कॉलेज में सीधा एडमिशन नहीं मिलता. एडमिशन लेने के लिए आपको सबसे पहले एक एंट्रेंस एग्जाम देना होता है जिसे CLAT नाम से जाना जाता है. CLAT का फुल फॉर्म Common Law Admission Test होता है और इस एग्जाम को 12th या ग्रेजुएशन के बाद दिया जा सकता है.

आप इस एग्जाम को जितने बार भी दे सकते हो और इस एग्जाम में बैठने के लिए आपके 12th या ग्रेजुएशन में कम से कम 45% होने चाहिए. आरक्षित वर्ग के लिए यह 40% निर्धारित की गयी है वैसे यह योग्यता कॉलेज के हिसाब से थोड़ा कम ज्यादा हो सकता है.

CLAT का फॉर्म आप ऑनलाइन भरते हो तो इसकी फीस General/OBC/SAP के लिए Rs 4000 होती है वहीं SC/ST के लिए यह फीस Rs 3500 निर्धारित की गयी है.

  • CLAT एग्जाम की तैयारी के लिए ज्यादा से ज्यादा मॉक टेस्ट करे.
  • अगर CLAT की तैयारी करने में कोई परेशानी हो तो कोचिंग ज्वाइन जरुर करे.
  • पिछले साल के पेपर को पढ़े और देखे की किस तरह से सवाल पूछे जाते है.
  • समय का प्रबंधन ठीक से करे और फालतू का समय बर्बाद न करते हुए एग्जाम की तैयारी में जुटे रहे.

LLB Course Details in Hindi के लिये फीस

एलएलबी की एडमिशन फीस 5 साल की कोर्स के अनुसार 3.85 लाख रुपए है अगर यही एलएलबी कोर्स 3 साल का होता है तो इसकी कुल फीस 203500 रुपए होती है।

एलएलबी कोर्स की fees आपके कॉलेज के ऊपर भी निर्भर करती है। अगर आप सरकारी कॉलेज में पढ़ रहे हैं तो आपकी फीस कम होगी और अगर आप प्राइवेट कॉलेज में पढ़ने ताप की फीस सरकारी कॉलेज कि तुलना से बहुत ज्यादा होगी।

सरकारी कॉलेज में llb course ki fees ₹100000 से लेकर ₹200000 तक होती है जबकि प्राइवेट कॉलेज में एलएलबी कोर्स की फीस ₹300000 से लेकर ₹600000 तक हो सकती है।

Best College For LLB In India

भारत में कानूनी शिक्षा का दायरा और मांग लगातार बढती जा रही है और इसलिए, लॉ विश्वविद्यालय की आवश्यकता अनिवार्य हो जाती है. भारत में 780 से अधिक लॉ कॉलेज हैं जो विभिन्न स्तरों और कई डिग्री के तहत पाठ्यक्रम प्रदान करते हैं.

ये कॉलेज सभी कानून के उम्मीदवारों की प्राथमिकताओं को पूरा करते हैं और सभी क्षेत्रों में विविध प्रकार के विकल्प प्रदान करते हैं.

LLB के छात्र देश के सभी राज्यों में सरकारी और निजी दोनों तरह के कानून संस्थान पा सकते हैं. भारत में इन कानून संस्थानों में कुल लगभग 2,000 पाठ्यक्रम पेश किए जाते हैं जिनमें कानून के सभी पारंपरिक और नए जमाने के विशेषज्ञ शामिल हैं.

इन लॉ कॉलेजों ने एक प्रभावशाली प्लेसमेंट रिकॉर्ड बनाए रखा है और छात्रों को कुछ प्रमुख कंपनियों और संगठनों में भर्ती होने में मदद करते हैं. ताकि यह भारत के top LLB कॉलेज में पढ़ कर अपना और देश का भविष्य उज्जवल बना सके.

नीचे भारत के प्रसिद्ध LLB कॉलेज के नाम, स्था, NIRF Ranking द्वारा दिए गए स्कोर और courses की संक्षिप्त में जानकारी दी गई है :-

  1. National Law School of India University
  2. National Law University
  3. Nalsar University of Law
  4. Indian Institute of Technology Kharagpur
  5. National Law University
  6. The West Bengal National University of Juridical Sciences
  7. Gujarat National Law University
  8. Symbiosis Law School
  9. Jamia Millia Islamia
  10. The Rajiv Gandhi National University of Law

LLB Course Details in Hindi के लिये Best Subject

अभी तक हमने LLB के बारे मे जाना कि LLB क्या होती है LLB कि फुल फोर्म क्या होती है चलिये अब हम जान लेते है कि Best Subject In LLB मे कौन कौन से होते है-

Tax law

Tax law मे हमें टैक्स के बारे में बताया जाता है ,tax law में हमें यह बताया जाता है कि भारत में कितने प्रकार के टैक्स होते हैं ,व किस किस चीज पर लगाए जाते हैं और यह भी बताया जाता है कि उन टैक्स को पालन न करने पर किस प्रकार की सजा मिल सकती है।

यह सारी चीजें हमें टैक्स लॉ के अंतर्गत बताया जाता है।

Criminal law

Criminal law मे हमें crime के बारे में बताया जाता है ,कौन से क्राइम करने पर किस प्रकार की सजा मिलती है ,यह भी बताया जाता है कि किस क्राइम को कौन सा दर्जा दिया गया है ।किस क्राइम को करने से हमें कौन सी सजा मिलेगी ,

कई विद्यार्थियों को criminal law का subject कठिन लगता है, उनका मानना यह होता है की वह कैसे इन धाराओं को याद करेंगे व कैसे इस subject को पढ़ा करेंगे।

लेकिन यही subject कुछ लोगों को बहुत ही ज्यादा interesting लगता है।

Banking law

Banking law में हमें बैंक के कानून के बारे में बताया जाता है।

इसके माध्यम से हमें बैंक पर लगाए गए सारे टैक्स और चार्जेस लोन ना चुकाने पर कौन सी सजा कब देनी चाहिए ,यह सारी जानकारी हमें बैंकिंग लॉ बताता है।

इसमें यह भी बताया जाता है कि बैंक को किस नियमों का पालन करना चाहिए और उन नियमों को पालन ना करने पर उन्हें कौन सी सजा दी जा सकती है।

Cyber law

Cyber law मे हमें साइबर क्राइम के बारे में पढ़ाया जाता है ,आज के समय में साइबर क्राइम बहुत बढ़ता ही जा रहा है ,मोबाइल व लैपटॉप से की जाने वाली सारी चीजें से साइबर क्राइम का खतरा बढ़ता जाता है।

इसमें हमें यह पढ़ाया जाता है कि साइबर क्राइम करने पर क्या सजा मिलती है ,कौन-कौन से साइबर क्राइम होते हैं व साइबर क्राइम करने पर कौन कौन सी धारा लगाई जाती है।

Corporate law

Corporate law में ‌हमें corporate दुनिया के बारे में बताया जाता है ।और यह भी बताया जाता है कि हमें कैसे क्राइम को कम करना चाहिए, यह law सबको बहुत interesting लगता है और इस को पढ़ने में बहुत मन लगता है।

Family law

Family law में हमें दो परिवारों के बीच हुई गए मारपीट, धोखाधड़ी लूटपाट ,लेन देन यह सब पढ़ाया जाता है।

जैसा कि आपको फैमिली लॉ के नाम से ही पता पड़ रहा है ,यह दो या दों से ज्यादा फैमिली के बीच होने वाले क्राइम को सजा देता है।

फैमिली लॉ में तलाक, दहेज का लेना देना आदि चीजें भी इसके अंतर्गत आती है ।फैमिली लॉ में हमें यह भी बताया जाता है कि कौन से केस में कौन सी धारा लगाई जाती है किस प्रकार के कार्य को करने से कौन सी सजा दी जाती है।

Land law

land law मैं हमें land पर लगाए गए टैक्स के बारे में बताया जाता है, साथ ही यह भी बताया जाता है कि हमें किस प्रकार की land की खरीद व बिक्री करनी चाहिए और लैंड पर की गई गैरकानूनी व अवैध चीजों पर रोक लगाई जाने पर बताया जाता है ।

Administrative law

Administrative law में हमें अधिकारों के पद व उनके दायित्व के बारे में बताया जाता है साथ ही हमें अधिकारियों के महत्व के बारे में बताया जाता है।

Company law

Company act हमें कंपनी से संबंधित सारी जानकारी देता है कंपनी एक्ट में सरकार कंपनी को नियमित कार्यों को करने की शक्ति प्रदान करता है।

Property law

UProperty Law के अंतर्गत Property से जुड़े सारे कार्य आते हैं, Property law उस पर लगाया जाता है जब हमारे पूर्वज हमारे लिए Property छोड़कर जाते हैं और उसके कौन-कौन हिस्सेदार होते हैं अपना हिस्सा ना मिलने पर Property law के आधार पर उसे हिस्सा दिलाने में मदद की जाती है।

Constitutional law

Constitutional law को हिंदी में संविधान कहा जाता है, यह एक ऐसा कानून है जो कि हमारे देश की स्थिति को निर्धारित करता है।

किसी भी देश का constitution उसके राजनैतिक और न्याय व्यवस्था से बताया जाता है इस law में हमें यह बताया जाता है कि हमें नागरिकों से किस तरह से मेल मिलाप रखना चाहिए।

Patent attorney

Patent Attorney law एक ऐसे law हैं जो कि किसी व्यक्ति के द्वारा बनाई गई कोई भी खोज,डिजाइन , प्रक्रिया आदि पर लगाया जाता है।

व्यक्ति को उसके द्वारा बनाई गई अपनी डिजाइन का उपयोग करने के लिए एकाधिकार दिया जाता है अगर कोई भी व्यक्ति उस डिजाइन का प्रयोग करता है तो वह एक अपराध माना जाता है।

LLB करके हम कोई भी छोटा मोटा केस आसानी से लड़ सकते हैं। व साथ ही किसी वकील के पास जाकर वकालत के बारे में और भी ज्यादा जान व सीख सकते हैं।

LLB करने के बाद क्या करे? – Career After LLB

एलएलबी के बाद कैरियर के अवसर और नौकरी की गुंजाइश बहुत ज्यादा है. दोस्तों यहाँ पर हम आपको एलएलबी के बाद कैरियर के अवसर और नौकरी के बारे में बताएँगे –

Law Attorney in a Law Firm

एक Law Graduate को यह विकल्प सबसे अधिक मिलता है. आप Law करके किसी कंपनी में क्लाइंट के लिए कानूनी वकील या वकील के रूप में काम करने का विकल्प चुन सकते हैं.

हमारे देश में बहुत सारी Law कंपनी हैं. उनमें से कई अपने कानूनी ज्ञान और समाशोधन मामलों की दर के लिए अच्छी तरह से जाने जाते हैं. तथ्य की बात के रूप में, हमारे देश को और अधिक वकीलों की आवश्यकता है जो उन पर वर्षों बर्बाद करने के बजाय मामलों को सुलझाने में विश्वास करते हैं.

हमारी अदालतें पहले से ही मामलों के साथ बह रही हैं. इसलिए जब एक अच्छा Law Student जो मामलों का अध्ययन करने और बसने के त्वरित तरीकों की खोज करने का शौक रखता है, तो इन कंपनी द्वारा पाया जाता है और उन्हें तुरंत काम पर रखा जाता है.

हमारे देश में सबसे प्रसिद्ध Law कंपनी में से कुछ हैं जैसे कि –

  1. Trilegal
  2. Trilegalf
  3. Khaitan & Co.
  4. S & R Associates
  5. J Sagar and Associates
  6. Talwar Thakore and Associates
  7. Cyril Amarchand Mangal Das and Co
  8. Shardul Amarchand Mangal Das and Co

छात्र Law Graduates कोर्स पूरा करने के बाद जल्द ही इन कंपनी के लिए आवेदन कर सकते हैं. इनमे आपको अच्छा एक्सपोजर और अनुभव मिलेगा

Legal Advisors for Banks / Companies

उल्लिखित प्रतिष्ठान अपने सभी मामलों को संभालने वाले किसी विशेष कंपनी के खिलाफ एक Personal Legal Advisor रखना पसंद करते हैं.

Social Workers

इन दिनों, मानवाधिकारों का उल्लंघन अपमानजनक रूप से आम हो गया है. गरीब किसान अपने खेतों को खो रहे हैं, अल्पज्ञात विज्ञान के उत्साही लोगों को उनके आविष्कारों के लिए पेटेंट नहीं दिया जाता है और जंगलों और आदिवासियों के वर्तमान मुद्दे का उल्लेख नहीं किया जाता है.

इसलिए, जब इन लोगों के लिए काम करने वाले एनजीओ को एक वकील मिलता है, तो वे अदालत में मामले से निपटने के लिए बेहतर तरीके से सुसज्जित होते हैं.

सामाजिक कार्य के लिए झुकाव के साथ Law Graduate non-governmental Organizations में शामिल हो सकते हैं या अपनी खुद की शुरुआत कर सकते हैं. इस तरह, वे वास्तव में लोगों के जीवन में बदलाव ला सकते हैं.

राष्ट्रीय स्तर के कई non-governmental Organizations के साथ-साथ Smile Foundation और कैलाश सत्यार्थी की बच्चे बचाओ आंदोलन, यहां तक ​​कि अंतरराष्ट्रीय लोगों को अपने अंतरराष्ट्रीय कार्यालयों के लिए वकीलों की आवश्यकता होती है.

पर्यावरण संरक्षण चेहरे में शामिल Non-governmental Organizations की संख्या की कल्पना करें. आपको सुनने को मिलेगा कि उन्हें बिल्डरों या व्यवसायियों द्वारा कारण बताओ नोटिस मिलते हैं और इसी तरह उन्हें निश्चित रूप से एक सूचित वकील की जरूरत है जो अपनी बात को मुखरता से सामने रख सके.

यहां तक ​​कि डब्ल्यूएचओ और यूनेस्को जैसे संगठनों को हर देश में वकीलों की जरूरत है.

Civil Services

Law Graduate Civil Service Exam के लिए आने वाले उम्मीदवारों का एक बड़ा हिस्सा बनाते हैं. कानूनी मामलों का उनका मजबूत ज्ञान आधार उन्हें सही उम्मीदवार बनाता है.

UPSC और State Civil Service Exam के साथ, वे विभिन्न Government Organizations में Legal Advisers के पद के लिए भी आवेदन कर सकते हैं.

Legal Framework के बारे में एक छात्र की मजबूत समझ इस संबंध में वास्तव में सहायक होगी. वह पहले से ही न्यायिक कदमों के लिए जाने जाएंगे जो अनुमत हैं और प्रतिबंधों के बारे में भी

एक Law Student के रूप में, वह प्रणाली में खामियों को नोटिस करने और इसके सुधार की दिशा में काम करने के लिए बेहतर होगा.

Judicial Services

Judicial Services Exams के लिए Law Graduates Student भी उपस्थित हो सकते हैं. ये परीक्षा उच्च न्यायालयों द्वारा आयोजित की जाती है और चयन होने पर, उन्हें न्यायाधीश के रूप में नियुक्त किया जाएगा.

एक अनुमान के मुताबिक, पूरे देश में अदालतों में 2.8 करोड़ मामले लंबित हैं. यह सिर्फ न्यायाधीशों की कमी के कारण है.

हमें वर्तमान में 15,000 और न्यायाधीशों की आवश्यकता है जो पूरे देश में अदालतों में दीवानी और आपराधिक मामलों को संभाल सकते हैं.

यदि आप सीधे लोगों से जुड़ने के लाभ के साथ एक स्थायी नौकरी करना चाहते हैं, तो यह आपकी कॉल होनी चाहिए. एक न्यायाधीश के रूप में, आप अदालतों से मामलों के दबाव को कम करने की दिशा में काम कर सकते हैं.

इसके अलावा, आपके निर्णय की अच्छी समझ के साथ, आप लोगों के कल्याण में योगदान कर सकते हैं.

Academic Roles

Law स्कूलों के लिए Law प्रोफेसरों की जरूरत होती है. यदि आप Teaching और Research में माहिर हैं, तो आप LLM का विकल्प चुन सकते हैं और फिर NET को Clear कर सकते हैं.

इसके बाद, आप देश भर के कॉलेजों में पढ़ाने के योग्य हो जाएंगे. संस्थानों को अच्छे प्रोफेसरों की सख्त जरूरत है जो कानून के हालिया अपडेशन से खुद को अपडेट रख सकें.

उदाहरण के लिए – एक प्रोफेसर जो खुद को पेटेंट कानूनों के बारे में सूचित रख सकता है, इस कोर्स को पढ़ाने में विशेषज्ञता रखने वाले संस्थानों के लिए एक निश्चित विकल्प होगा.

इतना ही नहीं, एक प्रोफेसर के रूप में, आपको शोध करने और सेमिनार और सम्मेलन आयोजित करने का अवसर मिलेगा. बढ़ती वैश्विक प्रदर्शन के साथ आपकी विशेषज्ञता का क्षेत्र निश्चित रूप से बढ़ेगा.

Media Houses

मीडिया हाउस हमेशा मुकदमों का केंद्र होते हैं. उन्हें वकीलों की जरूरत है जो उनके मामलों को संभाल सकें. इतना ही नहीं, कई पत्रिकाएँ हैं जो अपने पाठकों को कानूनी सलाह देती हैं और वहां वकीलों की जरूरत होती है.

ऐसी कुछ पत्रिकाएँ हैं जो पूरी तरह से कानूनी पहलुओं पर आधारित हैं. एक वकील के रूप में, आप उनके Research, Development और Editing में योगदान कर सकते हैं.

आप वहां Legal Writer या Editor के रूप में काम कर सकते हैं. आप Lawyer Monthly Magazine, Student Lawyer Magazine और Huge Magazine जैसी Magazines में अवसरों की तलाश कर सकते हैं.

Starting own Law Company

यह सभी सुझावों में से सबसे रूढ़िवादी है. परंपरागत रूप से, वकील कई कंपनी तक एक कंपनी में काम करने और खुद को स्थापित करने के बाद ही ऐसा करते हैं. लेकिन IT युग के आगमन के साथ, हमने कंपनी की अवधारणा को संशोधित किया है.

एक Typical Brick और Mortar स्थापना के बजाय, आप एक ऑनलाइन वेबसाइट शुरू कर सकते हैं जो कानूनी सलाह प्रदान करती है. इसके लिए बस एक लैपटॉप और एक निर्बाध इंटरनेट कनेक्शन के निवेश की आवश्यकता होगी.

इसमें शुरुआत में कठिनाई हो सकती है. लेकिन जैसे-जैसे अधिक से अधिक लोग आपकी वेबसाइट के बारे में जानेंगे, आपको अधिक से अधिक ग्राहक मिलेंगे. इसमें आप अपनी सेवाओं के लिए ऑनलाइन भुगतान पद्धति का परिचय दे सकते हैं. चिकित्सा क्षेत्र में इसी तरह की सेवाएं शुरू की गई हैं.

Work as a Law Clerk

न्यायालय के समक्ष कानूनी निर्णय लेने में न्यायाधीशों की सहायता के लिए न्यायिक क्लर्क जिम्मेदार होते हैं. उनका मुख्य काम किसी विशेष मामले के बारे में अनुसंधान, विचार-मंथन और निष्कर्ष निकालना होता है. इसमें न्यायिक क्लर्क के रूप में, आप अमूल्य अनुभव और जोखिम प्राप्त करेंगे.

ये प्रमुख कैरियर विकल्प हैं जो कानून स्नातकों के लिए उपलब्ध हैं. कानूनी कर्मियों को उनके काले कोट और कानून को अपनी आवश्यकताओं के अनुरूप ढालने की क्षमता से जाना जाता है. लेकिन देश को वास्तव में जिस चीज की जरूरत है वह एक ईमानदार और मेहनती वकील है.

LLB  करने के फायदेLLB Course Details in Hindi

एलएलबी कोर्स करने के बाद तो बहुत सारे फायदे है पर में आपको कुछ फायदे बताना चाहता हूँ जिससे आपको एक अंदाज़ा लग सके और आपको एलएलबी LLB कोर्स करने में मज़ा भी आये दराशल कोई कोर्स ख़राब नहीं होता है बस आपको मेहनत करना होता है तो चलो अब जानते है की एलएलबी कोर्स (Advantage of LLB) के फायदे.

  • एलएलबी करने के बाद आप एक ग्रेजुएट कहलाते है
  • ये एक वकालत ग्रेजुएशन डिग्री है जिसे करने के बाद आपके वकालत का नॉलेज हो जाता है
  • एलएलबी कोर्स करने बाद आप किसी का भी केस को लड़ सकते है

FAQ RELATED LLB Course Details in Hindi

LLB के बाद कितनी सेलेरी मिलती है?

यह कोर्स पूरा करने वाले छात्र की सैलरी उनके कौशल पर निर्भर करती है, इस क्षेत्र में प्रारंभिक सैलरी आपके कौशल पर निर्भर करती है।
इस क्षेत्र में आपकी सामान्य तौर पर सैलरी 15,000 से 25,000 हो सकती है, और कुछ अनुभव के बाद आपकी सैलरी 40,000 से 60,000 तक हो सकती है| और सैलरी पैकेज अलग-अलग कारकों जैसे कि कंपनी, शिक्षा, उम्मीदवार के कौशल, कार्य अनुभव आदि पर भी निर्भर करती है|

क्या LLB मे Scholership मिलती है?

लॉ देश में छात्रों के बीच सबसे अधिक मांग वाले करियर विकल्पों में से एक है। हर साल कई छात्र लॉ पाठ्यक्रमों में प्रवेश लेते हैं। समय के साथ-साथ शिक्षा अधिक महंगी होती जा रही है, जिस कारण कई छात्र लॉ की पढ़ाई नहीं कर पाते हैं।
हालाँकि, ऐसी कई स्कॉलरशिप उपलब्ध हैं, जो छात्रों को फाइनेंशियल मदद करती हैं।
आज के इस लेख में हमने लॉ के छात्रों को मिलने वाली लोकप्रिय स्कॉलरशिप के बारे में बताया गया है।
1. ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन वालों को मिलती है ये स्कॉलरशिप
मानव संसाधन विकास मंत्रालय का उच्च शिक्षा विभाग कॉलेज और विश्वविद्यालय के छात्रों के लिए स्कॉलरशिप की केंद्रीय क्षेत्र योजना प्रदान करता है।
इसके तहत कॉलेजों/विश्वविद्यालयों में स्नातक/पोस्ट ग्रेजुएशन करने वालों को सालाना 82,000 स्कॉलरशिप मिलती है।
जिन उम्मीदवारों की पारिवारिक आय आठ लाख प्रति वर्ष से कम है, वे इसके लिए योग्य हैं।
स्नातक करने वाले उम्मीदवारों को 10,000 रुपये प्रति वर्ष और पोस्ट ग्रेजुएशन करने वाले छात्रों को 20,000 रुपये प्रति वर्ष मिलते हैं।
2. अल्पसंख्यक समुदायों के छात्रों को मिलती है ये स्कॉलरशिप
अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय तकनीकी/प्रोफेशनल पाठ्यक्रमों में पढ़ाई करने वाले छात्रों को हर साल 60,000 मेरिट कम मीन्स स्कॉलरशिप भी प्रदान करता है।
मुस्लिम, ईसाई, सिख, बौद्ध, जैन, और पारसी जैसे अल्पसंख्यक समुदायों के छात्र इसके लिए पात्र हैं। इसके साथ ही उनकी पारिवारिक आय 2.5 लाख प्रति वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए।
चयनित उम्मीदवारों को 20,000 रुपये प्रति वर्ष और 500-1000 रुपये प्रति महीना भरण-भत्ता (Maintenance Allowance) के लिए दिए जाएंगे।
3. आदित्य बिड़ला स्कॉलरशिप कार्यक्रम के लिए करें आवेदन
आदित्य बिड़ला स्कॉलरशिप कार्यक्रम भी लॉ के छात्रों को स्कॉलरशिप प्रदान करता है। चुनिंदा संस्थानों के छात्र इसके लिए आवेदन कर सकते हैं। जिसमें नेशनल लॉ स्कूल ऑफ़ इंडिया यूनिवर्सिटी (बेंगलुरु), NALSAR यूनिवर्सिटी ऑफ़ लॉ (हैदराबाद), WB नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ जुरिडिकल साइंसेज (कोलकाता), नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी (जोधपुर) और गुजरात नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी शामिल हैं।
लॉ पाठ्यक्रमों के लिए इस कार्यक्रम के तहत 1.8 लाख रुपये प्रति वर्ष स्कॉलरशिप दी जाती है।
4. क्विल फाउंडेशन भी देता है छात्रों को स्कॉलरशिप
दिल्ली स्थित रिसर्च और वकालत में संलग्न एक स्वायत्त संस्थान क्विल फाउंडेशन लॉ के छात्रों को स्कॉलरशिप प्रदान करता है।
इस स्कॉलरशिप कार्यक्रम के तहत LLB कार्यक्रम में प्रवेश लेने वाले शैक्षणिक रूप से मेधावी, लेकिन आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों को स्कॉलरशिप प्रदान की जाती है।
ये स्कॉलरशिप प्राप्त करने के लिए उम्मीदवार ने 12वीं में अंग्रेजी या अन्य किसी इलेक्टिव विषय में कम से कम 60 प्रतिशत स्कोर किया हो।
5. फुल फंडेड साइंस एंड लॉ स्कूल स्कॉलरशिप भी है काफी उपयोगी
दुनिया भर के टॉप-रेटेड संस्थानों से लॉ कोर्स करने के इच्छुक छात्रों को एफिडेविट इंस्टीट्यूट ऑफ ज्यूडिशियल प्रैक्टिस, फुल फंडेड साइंस एंड लॉ स्कूल स्कॉलरशिप प्रदान करता है।
बता दें कि ये संगठन भारतीयों सहित अंतरराष्ट्रीय छात्रों को प्रायोजकों (Sponsors) करता है। इसके तहत छात्र बिना कोई फीस दिए QS वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग में 1,000 से नीचे रैंक वाले टॉप साइंस या लॉ स्कूलों में अध्ययन कर सकते हैं।

आज आपने क्या सीखा? LLB Course Details in Hindi

आज के इस पोस्ट मे हमने आपको बताया कि LLB Kya Hai? – LLB क्या है? LLB Course Details in Hindi? LLB Full Form Hindi And English क्या होती है? LLB  कैसे करे? – LLB  Kaise Kare? LLB Karne Ke Liye Qualification क्या होना चाहिए है? Fee For LLB In India यानि कि इसके लिये भारत मे कितनी फीस होती है?

इसके आलवा भि हमने आपको हमारे इस पोस्ट LLB Kya Hai? – LLB क्या है? के माध्ययम से वो सभी जानकारी आप लोगो के साथ शेयर की है जिनके बारे मे आपको जानना बेहद जरूरी है।

उम्मीद है कि आपको हमारा यह पोस्ट LLB Kya Hai? – LLB क्या है? पसंद आया होगा और जो भि आप जानकारी लेना चाहते थे वो आपको हमारे इस पोस्ट LLB Kya Hai? – LLB क्या है? के माधययम से मिल गयी होगी।

अगर आपको हमारा यह पोस्ट LLB Kya Hai? – LLB क्या है? ह्ल्पफुल लगा हो तो इसे पोस्ट LLB Kya Hai? – LLB क्या है? को अपने दोस्तो के साथ जरूर शेयर

1 thought on “जानिए LLB क्या है? LLB कैसे करे?”

Leave a comment

LLB Course Details in Hindi – LLB क्या है? LLB कैसे करे ?
LLB Course Details in Hindi – LLB क्या है? LLB कैसे करे ?
LLB Course Details in Hindi – LLB क्या है? LLB कैसे करे ?
LLB Course Details in Hindi – LLB क्या है? LLB कैसे करे ?