ITI Full Form in Hindi – ITI क्या है? ITI कैसे करे? पूरी जानकारी

ITI Full Form in Hindi, ITI क्या है? ITI का फुल फोर्म क्या है? स्वागत है आप सभी का ITI Full Form In Hindi के इस पोस्ट मे, आज के इस पोस्ट के माध्ययम से हम आपको बतायेंगे कि आईटीआई क्या है, ITI Full Form in Hindi, और कैसे करें? ITI करने के क्या क्या फायदे होते हैं? ITI कोन कर सकता है? ITI की फीस कितनी होती है? ITI कराने के बाद आपको किस तरह की जॉब मिल सकती है? कितनी सेलेरी आपको मिल सकती है?

साथ हि आप लोगों  के दिमाग मे और भी बहुत सारे सवाल होते है जिनके जवाब आजके इस पोस्ट मे आपको देने वैला हूँ अगर मैं सीधे शब्दो मे कहूँ तो आज के इस पोस्ट मे मैं आपको ITI वो सभी जानकारी शेयर करूँगा जिसकी आपको जरूरत है।

तो बस आपसे यही कहना है कि अगर आपको ITI के बारे मे पूरी जानकारी लेनी है और ITI की जानकारी लेने मे  आपको दिलचसपी है तो आपको यह पोस्ट पूरा पढ़ना चाहिये जिससे आपको आपके सभी सवालो कई जवाब इस पोस्ट मे मिल सके।

ITI-Full-Form
ITI Full Form

ITI Full Form in Hindi – ITI क्या है? ITI कैसे करे? पूरी जानकारी

वैसे तो आपने भी कभी ना कभी ITI का नाम तो जरूर सुना होगा या कही पढा होगा लेकिन क्या आपने  कभी यह जानने की कोशिश की है कि असल मे ITI Full Form in Hindi मे क्या होती है?

नही ना! चलो कोई नही मैं इस पोस्ट मे आपको ITI कै बड़ाई में सभी जानकारी शेयर करुंगा तो चलिये शुरू करते हैं।

ITI Full Form या ITI full form क्या है?

ITI का इंगलिश मे पूरा नाम है-

ITI – “Industrial Training Institute” ITI का एंग्लिश मे पूरा नाम है।

आईटीआई का पूरा नाम क्या है– Full form of ITI in Hindi

उपर हमने आपको ITI का इंगलिश मे पूरा नाम बताया है। अब चलिये जान लेते है कि Full form of ITI in Hindi या iti ki full form में “औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान

जब आप ITI कराते है तो हमे एक तरह कि टेक्निकल जानकारी दी जाती है। या हम कह सकते हैं कि औधोगिक छेत्र के लिये एक तरह कि ट्रेनिंग दी जाती है।

क्योंकि ITI कै बाद हमे किसी सरकारी या किसी प्राइवेट जॉब  करनी होती है। जो उस जॉब में काम कराया जाता है उसी सम्बन्धित हमे पढाया जाता है और सिखाया जाता है। इसी कारण की वजह से इसका नाम Industrial Training Institute कहा जाता है।

यह भी पढे-

EMI Full Form in Hindi : EMI क्या है? EMI की पूरी जानकारी

आईटीआई मे NCVT और SCVT क्या है?

दरअसल ITI में दो तरह की ट्रेनिंग दी जाती है इसी लिये हमने यहाँ पर आप लोगो को NCVT और SCVT के बारे मे बताना जरूरी समझा है तो चलिये जानते है कि यह NCVT और SCVT क्या है?

NCVT:- इसपूरा नाम है – “National Council For Vocational Training” इस कोर्स मे नेशनल लेवल की ट्रेनिंग दी जाती है। जबकी SCVT NCVT का एक भाग है या एक  हिस्सा है यह ट्रेनिंग पूरे देश के लिये एक हि होती है। पूरे देश भर मे एक तरह की ट्रेनिंग दी जायेगी एक तरह का पेपर होगा जो भी सिखाया जाता है वो देशभर के सभी विधार्थियो को एक जैसा हि सिखाया जाता है। यह होता है NCVT. तो चलिये अब जान लेते है कि SCVT क्या है?

SCVT:- SCVT का पूरा नाम है- “State Council For Vocational Training” इस कोर्स मे स्टेट लेवल की ट्रेनिंग दी जाती है। जो की प्रत्येक राज्य के लिये अलग होती है।

आईटीआई में एडमिशन के लिए ज़रूरी डाक्यूमेंट्स

अगर आप ITI करने की सोच रहे है तो आपके पास यह सभी डाक्युमेंट होने जरूरी है।

  • 10th या 12th की मार्कशीट।
  • ट्रांसफर सर्टिफिकेट
  • जाती प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आपकी आई.डी जैसे- आधार कार्ड, वोटर कार्ड,
  • आपके पासपोर्ट साइज फ़ोटो

उपर दिये सबी दस्तावेज की फोटोकोपी जरूर ले कर जाये।

ITI Full Form? और सबंधित जानकारी

आईटीआई में क्या सिखाया जाता है?

ITI मे कई सारे ट्रेड होते हैं जिनमे हमे अलग अलग चीजें सीखने को मिलती हैं। सभी ITI ट्रेड मे आपको थ्योरिकल जानकारी से ज्यादा प्रेक्टिकल जानकारी दी जाती है जैसा कि हमने आपको पहले हि बता दिया है कि ITI के सभी छात्रो को प्रत्येक ट्रेड मे उसकी इंडस्ट्री से सम्बंधित चीजे सिखाई जाती हैं जिससे की वो अगर किसी इंडस्ट्री मे जाये तो उसे वहाँ पर काम करने पर यह ना लगे कि उसे इस चीज के बारे मे जानकारी कम है।

ऐसा बिलकुल भी नही है कि  ITI सि़र्फ लडके हि करते है इसे लडकिया भी अपने अनुसार ट्रेड चुन कर सकती हैं। इसमे लडकियो के लिये बहुत सारे अलग अलग ट्रेड उपलब्ध है जैसे- स्किन कैयर, हेल्थ कैयर, सिलाई, फैशन डिजाइनिंग आदि,

आईटीआई करने मे कितना समय लगता है?

ITI में अलग ट्रेड के हिसाब से अलग अलग समय लगता है इसमे छ महीने से लेकर दो साल तक का समय लगता है।

आप ITI कर लेते हैं तो आपको इसके करने के बाद यह भी फायदा मिलता है कि अगर आप पोलिटेकनिक करना चाहते है तो इसमे आपको 3 साल नही बल्की दो हि साल मे कर सकते है ITI करनें के बाद आपको 1 साल की छूट मिल जाती है।

आईटीआई करने में कितना खर्चा होता है?

यदि आप आईटीआई करना चाहते हैं तो इसमें आपको दो तरह के कॉलेज मिल जाते हैं एक होता है सरकारी कॉलेज और दूसरा होता है प्राइवेट कॉलेज जो हमें आईटीआई का कोर्स कर आते हैं|

अब हम सबसे पहले बात करेंगे कि सरकारी कॉलेज में और प्राइवेट कॉलेज में क्या फर्क है उसके बाद में आप खुद आइडिया लगा लेंगे कि भाई प्राइवेट कॉलेज की कितनी फीस होती है और सरकारी कॉलेज में आईटीआई करने के क्या फायदे होंगे और कितनी चीज आपको सरकारी कॉलेज में देनी पड़ेगी|

मान लीजिए कि आप दसवीं के बाद में या फिर 12वीं के बाद में आईटीआई करना चाहते हैं तो आपको एक चीज का जरूर ध्यान रखना कि अगर आप दसवीं के बाद में आईटीआई करना चाहते हैं तो आप की दसवीं में परसेंटेज अच्छी होनी चाहिए और अगर आना चाहिए|

अगर आप दसवीं कैसे 12वीं के बाद में आईटीआई करना चाहते हैं तो आपको एक बात जरूर याद रखना कि आप इन दोनों में से जिसमें क्लास के बाद में आईटीआई करना चाहते हैं उस क्लास में आपकी परसेंटेज अच्छी होनी चाहिए जिससे कि आपको एक अच्छा सरकारी कॉलेज मिल जाए अगर हम सरकारी कॉलेज की फीस बात करें तो सरकारी कॉलेज में ना के बराबर फीस ली जाती है|

 सरकारी कॉलेज आईटीआई करते हैं तो उसके आपको अलग से फायदे देखने को मिलेंगे चलिए जान लेते हैं उनके बारे में-

और जब सरकारी कॉलेज आईटीआई करते हैं तो आपको वहां कंपनी के प्लेसमेंट देखने को मिलेंगे जहां पर आपको अच्छी सैलरी मिलेगी। सरकारी कॉलेज में फीस बिल्कुल ना के बराबर नहीं जाती है|

माना जाता है कि जितनी भी सरकारी आईटीआई कॉलेज है उनमें प्राइवेट कॉलेज के बजाय अच्छी ट्रेनिंग दी जाती है। सरकारी कॉलेज से आईटीआई करने के बाद में आपको ज्यादा सैलरी की जॉब मिल सकते हैं।

अगर हम प्राइवेट आईटीआई कॉलेज की बात करें तो यहां पर आपको ₹30000 सालाना फीस देनी पड़ सकती है। वैसे तो यह फीस अलग-अलग कॉलेजों के हिसाब से अलग-अलग हो सकती है क्योंकि हर एक कॉलेज की फैकल्टी अलग होती है।

कॉलेज में अलग तरीके की ट्रेनिंग दी जाती है किसी में ज्यादा थ्योरिकल ट्रेनिंग दी जाती है तो किसी में ज्यादा प्रैक्टिकल ट्रेनिंग दी जाती है। इसी वजह से देश में आपको फीस अलग अलग देखने को मिल सकते हैं|

ITI के बाद कितनी सैलरी मिलती है?

वैसे तो यह कोई फिक्स नहीं है कि आईटीआई करने के बाद में आप को कितनी सैलरी मिलेगी। लेकिन फिर भी आप लोगों के साथ में कुछ यहां पर आईडिया बता देता हूं कि भाई अगर आप आईटीआई कर लेते हैं तो मिनिमम इतनी सैलरी मिल सकती है और ज्यादा से ज्यादा आपको इतनी सैलरी मिल सकती है।

अच्छे फेमस कॉलेज से अगर आप आईटीआई करते हैं चाहे वह सरकारी कॉलेज हो या फिर वह प्राइवेट कॉलेज हो तो वहां पर आपको बड़ी-बड़ी कंपनीज देखने को मिल जाती हैं जो कॉलेज में प्लेसमेंट के लिए आती है और वहीं पर आपका इंटरव्यू हो जाता है अगर आप प्लेसमेंट में सिलेक्ट हो जाते हैं तो आपको बड़ी कंपनी में 150000 से ₹20000 तक की जॉब मिल सकते हैं।

आज के मार्केट की बात करें अगर आपका प्लेसमेंट नहीं हो पाता है तो आप को कितनी सेलेरी मिलेगी नॉर्मल ही जो सैलरी देखी जाती है वह 10000 से ₹15000 तक के बीच में एक आईटीआई पास आउट कैंडिडेट को दी जाती है।

अगर आप एक बार कोई अच्छी सी कंपनी पकड़ लेते हैं वहां पर आपकी सैलरी ₹12000 लग जाती है तो जितना ज्यादा आप का एक्सपीरियंस होता जाएगा उतनी ही सैलरी आपकी वह कंपनी बढ़ाती चली जाएगी लेकिन यह डिपेंड करता है कि कंपनी कितना पर्सेंट सेलेरी आपकी से ले बढ़ाती है। कंपनी सैलरी बढ़ाने के लिए आपकी परफॉर्मेंस, आपकी अटेंडेंस और आपका वर्कफ्लो किस तरह का है वह सभी चीजें देखने के बाद में इंक्रीमेंट करते हैं। तो आपको स्टार्टिंग सैलेरी पर ध्यान ना दे कर आपको अपना अच्छा एक्सपीरियंस बनाना है आपको एक अच्छी नॉलेज लेनी है जिससे कि आपका फ्यूचर सिक्योर हो सके और आप एक अच्छी खासी सैलरी पा सके।

आईटीआई कोर्स की ट्रेड लिस्ट

असल में आईटीआई के कोर्स को मुख्य दो भागों में बांट दिया गया है-

  • नंबर 1 इंजीनियरिंग कोर्स
  • नंबर दो 9 इंजीनियरिंग कोर्स

आपको लगभग 80 प्लस इंजीनियरिंग कोर्स देखने को मिल जाते हैं वहीं पर 50 से ज्यादा नोन इंजीनियरिंग कोर्सेज देखने को आईटीआई में आपको मिल जाते हैं|

चलिए हम जान लेते हैं कि इंजीनियरिंग कोर्स में कौन-कौन से शामिल हैं- डीजल मैकेनिक इलेक्ट्रिशियन ट्विटर आदि तो चलिए अब जान लेते हैं कि नॉन इंजीनियरिंग आईटीआई में कौन-कौन से कोर्स शामिल है- स्किन केयर  हेल्थ केयर, फैशन डिजाइनिंग, सिलाई आदि कोर्सेज नॉन टेक्निकल आईटीआई में शामिल है।

आईटीआई कैसे की जाती है?

अपने आप को इस पोस्ट में पहले ही बता दिया है की आईटीआई करने के लिए हमारे पास में दो ऑप्शन होते हैं अगर आपके अच्छे नंबर आ जाते हैं तो आपको सरकारी कॉलेज मिल जाता है लेकिन अगर आप के नंबर कमाते हैं 10वीं या 12वीं में उसके बाद में आप आना चाहते हैं तो उसके लिए आपको प्राइवेट कॉलेज में एडमिशन लेना पड़ता है।

तो चलिए अब हम जान लेते हैं की सरकारी आईटीआई कॉलेज में एडमिशन की क्या प्रोसेस होती है-

अगर आप किसी सरकारी आईटीआई कॉलेज से आईटीआई करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको एक ऑनलाइन फॉर्म भरना होता है जिसने आपकी डॉक्यूमेंट होते हैं उनको अटैच करना होता है उसके बाद में सबमिट करना होता है  साथ ही उस फॉर्म में आपसे यह पूछा जाता है कि आप किस ट्रेड से आईटीआई करना चाहते हैं।

जब आप ऑनलाइन आईटीआई के लिए फॉर्म भर दे  तो उसके बाद में स्टेट लेवल से नेशनल लेवल से एक कटऑफ जारी होता है अगर आपकी  10वीं 12वीं  परसेंटेज अच्छी है।  और आप कल टॉप को पार कर जाते हैं तो आप को आप के चुने हुए आईटीआई कॉलेज में से कॉलेज मिल जाता है वहां पर जाकर आपको अपने डॉक्यूमेंट की हार्ड कॉपी सबमिट करनी होती है।

इसके अलावा अगर हम बात करें कीपैड कॉलेज में एडमिशन कैसे मिलता है तो उसके लिए सबसे पहले आपको कोई भी एक प्राइवेट कॉलेज लेना है जहां से आप आईटीआई करना चाहते हैं उसके बाद मैं आपको वह कॉलेज विजिट करना है वहां पर जाकर आपको पूछना है कि कराने के लिए कितनी फीस ली जाएगी और फीस कब जमा करानी होगी साथ ही आपको यह भी पता करना है एडमिशन लेने के लिए डॉक्यूमेंट जरूरी है।

अब जो भी उस कॉलेज की फीस है वह आपको सम्मिट करनी है और आपको अपने डॉक्यूमेंट की हार्ड कॉपी भी सबमिट करनी है उसके बाद में जो भी एडमिशन का प्रोसेस है वह आपको कंप्लीट करना है आपका एडमिशन हो जाता है तो कॉलेज में आपको पता कर लेना है कि आपकी क्लास कब से शुरु होने वाले हैं बस यही एक प्रोसेस होता है आईटीआई में एडमिशन लेने के बारे में।

ITI करने के बाद जॉब कैसे पाएं?

जो हम किसी भी को स्टोर कंप्लीट करते हैं चाहे वह एक डिप्लोमा हो या फिर कोई डिग्री हो उसके बाद में हमें एक चिंता खाती है कि हमें किस तरह की जॉब मिलेगी कितनी सैलरी होगी और कहां पर हमें जॉब मिलेगी या फिर जॉब मिलेगी भी या नहीं।

टेंशन बनने भी सच बात है क्योंकि इतने दिन पढ़ाई करने के बाद में अगर जॉब नहीं मिलती है या फिर कोई अच्छी जॉब नहीं मिलती है तो  आज के जमाने में लोग पढ़ाई करने का कोई महत्व नहीं मानते हैं चाहे वह घर वाले हो या फिर आपके फ्रेंड आपके कोई रिश्तेदार हो पढ़ाई कंप्लीट हो गई है अब इसे जॉब करनी चाहिए नहीं करते या फिर कोई जॉब नहीं मिलती है उसके बाद में लोग आते सुनाना शुरू कर देते हैं।

चलिए अब हम जान लेते हैं कि किस तरह से हम आईटीआई करने के बाद में जॉब पासकते हैं-

हम सरकारी जॉब की बात करें या फिर किसी प्राइवेट सेक्टर के बाद करें दोनो मे हि ITI होल्डर की काफी मांग है।

तो अगर आप सरकारी नौकरी की तलाश में है तो उसके लिए आपको ऑनलाइन नोटिफिकेशन या फिर जॉब अलर्ट मिलते रहते हैं ऑनलाइन फॉर्म भरना है अच्छे से तैयारी करनी है उसके बाद में आपको एग्जाम देना है अगर आप एग्जाम क्लियर कर लेते हैं तो आपको सरकारी नौकरी भी मिल सकते हैं।

लेकिन यहां पर हम बात करते हैं कि यदि सरकारी नौकरी में नहीं मिलती है या फिर आपकी कोई प्रॉब्लम है और आप प्राइवेट सर कोई सुनना चाहते हैं तो आपको प्राइवेट सेक्टर में जॉब कैसे मिलेगी चलिए जानते हैं-

अगर आपको प्राइवेट सेक्टर में जॉब चाहिए तो इसके लिए भी आपको बहुत सारी ऑनलाइन  जॉब अलर्ट वेबसाइट मिल जाएंगी जिन पर आप खुद को रजिस्टर कर सकते हैं अपनी प्रोफाइल बना सकते हैं और वहां से अभी आपको लेटेस्ट जॉब की जानकारी मिलती रहती है।

और आपकी प्रोफाइल के अकॉर्डिंग कोई जॉब आती है तो आपको उस जॉब के लिए इंटरव्यू देना जो भी प्रोसेस प्रोसेस कंप्लीट करना  है प्रोसेस कंप्लीट करने के बाद में आपको आसानी से जॉब मिल जाते हैं।

चलिये मान लेते हैं कि हमें इंटरनेट के बारे में इतनी जानकारी नहीं है की हम ऑनलाइन जॉब तलाश कर पाए तो इसके लिए भी आपको हर शहर में बहुत सारी जॉब कंसलटेंसी मिल जाती है जहां पर जाकर आपको अपने डॉक्यूमेंट अपना रिज्यूम सबमिट करना है उसके बाद में अगर कोई जॉब आपकी प्रोफाइल के अकॉर्डिंग आती है तो वह आपको कॉल कर कर बता देते हैं उसके बाद में जो भी आपका प्रोसेस रहेगा वह आपको कंपनी में जाकर कंप्लीट करना होता है।

NOTE- अगर आपसे कोई भी कंसलटेंसी या फिर जॉब अलर्ट वेबसाइट से आज आपको लिया फिर ईमेल जिसके माध्यम से आपको जॉब देने के लिए बोला जाता है और उसके बदले में आप से पैसे की डिमांड की जाती है तो ऐसी जॉब को इग्नोर करें और किसी को भी जॉब के बदले में पैसे ना दे।

क्योंकि ऐसे बहुत सारे फ्रॉड को आते रहते हैं जो आपकी प्रोफाइल को इंटरनेट के माध्यम से उठा लेते हैं और उसके बाद में आपको कॉल करके प्रेस किया जाता है लालच दिया जाता है और आपको एक तरीके से फंसाया जाता है उसके बाद में आप से एक फीस जमा कराने के लिए बोला जाता है तो मेरा सुझाव ही रहेगा कि आप जॉब पाने के लिएकिसी भी थर्ड पर्सन को पैसे ना दे।

FAQ:

ITI Full Form?

“Industrial Training Institute”

ITI Full Form in Hindi

“औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान”

what is the full form of iti?

“Industrial Training Institute”

आईटीआई करने के बाद कितनी सेलेरी मिल सकती है?

ITI कराने के बाद मे आपको शुरूआत सेलेरी 10 से 15 तक मिल सकती है।

क्या ITI एक डिग्री है?

नही! यह एक डिप्लोमा है जिसे “Industrial Training Institute” के नाम से भी जानते हैं।

ITI कोर्स क्या है?

ITI एक ऐसा कोर्स है जिसमे आपको Industrial सम्बंधित Training दी जाती है।

आज आपने क्या सीखा – ITI Full Form?

ITI Full Form in Hindi के पोस्ट में हम ने आपको बताया है कि ITI Full Form? यानि कि “Industrial Training Institute” या ITI Full Form in Hindi – “औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान” साथ हि आप लोगो के बहुत सारे सवाल है जैसे कि ITI करने के बाद मे सेलेरी कितनी मिल सकती है? ITI कैसे करे? साथ हि और भी बहुत सारे सवाल है जिनके बारे मे आपको जानना बहुत हि जरूरी है।

तो आजके इस पोस्ट मे आपने यह भी जान लिया है कि-ITI ka full form hindi mai, iti ka full form kya hai , ITI full form क्या है?और कैसे करें? इसके करने के बाद मे आपको किस तरह की जॉब मिल सकती है?

उम्मीद है कि आपको हमारा यह पोस्ट जरुर पसंद आया होगा। लेकिन अगर आपका कोई सवाल है तो आप हमे कमेंट कर सकते है। जो भी आपका सवाल है वो आप हमसे पूछ सकते हैं। और अगर आपको लगता है कि हमे इस पोस्ट मे हमे कुछ अपडेट करना चाहिये तो आप कमेंट करके जरूर बताये।

6 thoughts on “ITI Full Form in Hindi – ITI क्या है? ITI कैसे करे? पूरी जानकारी”

  1. Hello! Someone in my Facebook group shared this site with us so I came to
    take a look. I’m definitely loving the information. I’m book-marking and will be tweeting this to my followers!
    Terrific blog and fantastic style and design.

    Reply

Leave a comment