इंटरनेट क्या है? और इंटरनेट के फायदें और नुकसान हैं।

Internet kya hai? इंटरनेट क्या है? और हमारे लिये क्या क्या इंटरनेट के फायदें और नुकसान हैं। इन सब की पूरी जानकारी मैं आपको इस पोस्ट में बहुत ही सरल व सहज भाषा में बताऊंगा.

जिससे कि आपको Internet kya hai? और इससे सम्बंधित जानकारी आसानी से समझ मे आ जाये और किसी और पोस्ट को पढने की जरुरत ना पढे.

आज के इस दोर में internet जहाँ बेंकिंग से लेकर एजुकेशन, कम्युनिकेशन, टेक्नोलॉजी और मनोरंजन का एक प्रमुख केंद्र बन चुका  है।

ऐसा नही है कि हमे internet ने कुछ दिया नही है. Internet हमे बहुत सारी समस्याओ का समाधान देने के साथ साथ हमारे लिये बहुत सारी नयी समस्याओ को जन्म भी दिया है,

तो दोस्तो आज के इस पोस्ट में हम यही जानेंगे कि Internet kya hai? इंटरनेट क्या है? और हमारे लिये क्या क्या इंटरनेट के फायदें और नुकसान हैं।

तो चलिये जान लेते है कि Internet kya hai? इंटरनेट क्या है? और हिंदी मे internet को क्या कहते हैं?

Internet kya hai
Internet kya hai

इंटरनेट क्या है? – Internet kya hai?

इन्टरनेट एक दुसरे से जुड़े एक से अधिक कंप्यूटरों का महाजाल है  जो कि दुनिया का सबसे बड़ा कम्प्यूटर नेटवर्क है। इन्टरनेट राउटर एवं सर्वर के माध्यम से दुनिया के किसी भी कंप्यूटर को आपस में जोड़ सकता है।

अगर हम दूसरे शब्दो में कहे तो “सूचनाओ के आदान प्रदान करने के लिए TCP या IP Protocol के माध्यम से दो या इस से अधिक कंप्यूटरों के बीच स्थापित सम्बन्ध को हि internet कहते हैं”. इन्टरनेट दुनिया का सबसे बड़ा और विशाल नेटवर्क है.

अगर हम इससे भी सरल भाषा मे समझे तो “दुनिया के कंप्यूटरों का आपस में जुड़ने को ही इंटरनेट कहते है”. जब यह नेटवर्क स्थापित हो जाता है तो हम एक विशाल जाल का हिस्सा बन जाते हैं। जिसे Global Network के नाम से जानते हैं।

और जब हमारे कंप्यूटर इस नेटवर्क से जुड जाते हैं तो इस नेटवर्क से जुडे हम किसी कंप्यूटर के माध्यय्म से सूचनाओ का आदान प्रदान कर सकते हैं।

इंटरनेट से जुडे हुये प्रत्येक कम्प्यूटर की अपनी एक अलग पहचान होती हैं. इस विशेष पहचान (Unique Identity) को  हम IP Address के नाम से जानते हैं. प्रत्येक कम्प्यूटर का IP Address गणितिय संख्याओं का एक Unique Set होता हैं (जैसे 102.197.105.123) जो उस कम्प्यूटर की लोकेशन को बताता हैं.

या फिर हम कह सकते हैं कि यहि unique code प्रत्येक कम्प्यूटर की अपनी एक पहचान देता है जिसकी मदद से हम अलग अलग कम्प्यूटर की पहचान कर सकते हैं। या फिर हम इस unique code कि मदद प्रत्येक कम्प्यूटर को ट्रेक कर सकते हैं।

Internet kya hai? – इन्टरनेट को हिंदी मे क्या कहते हैं?

Internet एक इंग्लिश शब्द है, जो कि Internetworked से लिया गया है. हिंदी में Internet का अर्थ होता है “अंतरजाल“. यानी कि इन्टरनेट हजारों-लाखों कम्प्यूटरों का एक जाल है इसे हिंदी में अंतरजाल या फिर सरल भाषा में “महाजाल” भी कह सकते है.

तो अगर हम सीधे शब्दो मे इन्टरनेट का मतलब समझे तो हम कह सकते है कि “इन्टरनेट दुनिया फर के हजारों-लाखों कम्प्यूटरों का एक महाजाल है। जिसका इस्तिमाल हम सूचनाओ के आदान प्रदान करने के लिये करते है”.

इंटरनेट के फायदें और नुकसान- Advantage and Disadvantage of Internet in Hindi

Internet kya hai? इंटरनेट क्या है? और हमारे लिये क्या क्या Advantage and Disadvantage of Internet in Hindi हैं। इन सब की पूरी जानकारी मैं आपको इस पोस्ट में बहुत ही सरल व सहज भाषा में बताऊंगा.

जिससे कि आपको Internet kya hai? और इससे सम्बंधित जानकारी आसानी से समझ मे आ जाये और किसी और पोस्ट को पढने की जरुरत ना पढे.

आज के इस दोर में internet जहाँ बेंकिंग से लेकर एजुकेशन, कम्युनिकेशन, टेक्नोलॉजी और मनोरंजन का एक प्रमुख केंद्र बन चुका  है।

ऐसा नही है कि हमे internet ने कुछ दिया नही है. Internet हमे बहुत सारी समस्याओ का समाधान देने के साथ साथ हमारे लिये बहुत सारी नयी समस्याओ को जन्म भी दिया है,

तो दोस्तो आज के इस पोस्ट में हम यही जानेंगे कि Internet kya hai? इंटरनेट क्या है? और हमारे लिये क्या क्या इंटरनेट के फायदें और नुकसान हैं।

तो चलिये जान लेते है कि Internet kya hai? इंटरनेट क्या है? और हिंदी मे internet को क्या कहते हैं?

Internet kya hai
Internet kya hai

इंटरनेट क्या है? – Internet kya hai?

इन्टरनेट एक दुसरे से जुड़े एक से अधिक कंप्यूटरों का महाजाल है  जो कि दुनिया का सबसे बड़ा कम्प्यूटर नेटवर्क है। इन्टरनेट राउटर एवं सर्वर के माध्यम से दुनिया के किसी भी कंप्यूटर को आपस में जोड़ सकता है।

अगर हम दूसरे शब्दो में कहे तो “सूचनाओ के आदान प्रदान करने के लिए TCP या IP Protocol के माध्यम से दो या इस से अधिक कंप्यूटरों के बीच स्थापित सम्बन्ध को हि internet कहते हैं”. इन्टरनेट दुनिया का सबसे बड़ा और विशाल नेटवर्क है.

अगर हम इससे भी सरल भाषा मे समझे तो “दुनिया के कंप्यूटरों का आपस में जुड़ने को ही इंटरनेट कहते है”. जब यह नेटवर्क स्थापित हो जाता है तो हम एक विशाल जाल का हिस्सा बन जाते हैं। जिसे Global Network के नाम से जानते हैं।

और जब हमारे कंप्यूटर इस नेटवर्क से जुड जाते हैं तो इस नेटवर्क से जुडे हम किसी कंप्यूटर के माध्यय्म से सूचनाओ का आदान प्रदान कर सकते हैं।

इंटरनेट से जुडे हुये प्रत्येक कम्प्यूटर की अपनी एक अलग पहचान होती हैं. इस विशेष पहचान (Unique Identity) को  हम IP Address के नाम से जानते हैं. प्रत्येक कम्प्यूटर का IP Address गणितिय संख्याओं का एक Unique Set होता हैं (जैसे 102.197.105.123) जो उस कम्प्यूटर की लोकेशन को बताता हैं.

या फिर हम कह सकते हैं कि यहि unique code प्रत्येक कम्प्यूटर की अपनी एक पहचान देता है जिसकी मदद से हम अलग अलग कम्प्यूटर की पहचान कर सकते हैं। या फिर हम इस unique code कि मदद प्रत्येक कम्प्यूटर को ट्रेक कर सकते हैं।

Internet kya hai? – Internet Ka Full Form – Internet Ka Pura Naam – Internet Ka Pura Naam Kya Hai?

Internet एक इंग्लिश शब्द है, जो कि Internetworked से लिया गया है. हिंदी में Internet का अर्थ होता है “अंतरजाल“. यानी कि इन्टरनेट हजारों-लाखों कम्प्यूटरों का एक जाल है इसे हिंदी में अंतरजाल या फिर सरल भाषा में “महाजाल” भी कह सकते है.

तो अगर हम सीधे शब्दो मे इन्टरनेट का मतलब समझे तो हम कह सकते है कि “इन्टरनेट दुनिया फर के हजारों-लाखों कम्प्यूटरों का एक महाजाल है। जिसका इस्तिमाल हम सूचनाओ के आदान प्रदान करने के लिये करते है“.

Internet Full Form in English

Internet एक इंग्लिश शब्द है, जो कि Internetworked से लिया गया है. हिंदी में Internet का अर्थ होता है “अंतरजाल

तो दोस्तो अभी तक हमने यह जान लिया है कि internet kya hai? और इन्टरनेट को हिंदी मे क्या कहते हैं? अब हम जानेंगे कि Advantage and Disadvantage of Internet in Hindi क्या क्या हैं।

Internet की शुरुआत कब हुई? और कैसे हुई

इंटरनेट की शुरुआत प्रथम बार अमेरिका में हुई थी।अमेरिका ने इसे शीत युद्ध के दौरान अपने सैनिकों के लिए किया था। युद्ध के दौरान उन्हें एक अच्छे संचार सेवा की आवश्यकता थी। इंटरनेट की प्रगति तब सही से चालू हुई ,जब उनहोनें सन् 1969 में ARPANET नाम का एक नेटवर्क बनाया गया था।

इसमे चार कंप्यूटर को साथ जोड़ा गया था। सन् 1972 में इसमें 37 कम्प्यूटर और जुड़ गए। वहीं भारत में इंटरनेट को आए हुए 26 साल हो चुके है, भारत में इंटरनेट 1995 में आया था VSNL द्वारा इंटरनेट कि शुरुवात की गई थी।

इंटरनेट की शुरुआत से आज तक हर कोई व्यक्ति इंटरनेट का उपयोग पूरी तरीके से कर रहा है। व्यक्ति की दिनचर्या का सहारा इंटरनेट बन चुका है। इंटरनेट का इस्तेमाल पहले हम कंप्यूटर में ही करते थे परंतु आज स्मार्टफोन से भी इसका उपयोग हो रहा है।

प्राचीन समय में इंटरनेट का उपयोग कंप्यूटर पर किया जाता था और कंप्यूटर का साइज इतना बड़ा होता था कि उसको रखने के लिए एक बड़ा सा कमरा बनवाना पड़ता था। लेकिन आज के समय में एक छोटे से मोबाइल फोन में भी इसका उपयोग आसानी से हो जाता है।

Advantage and Disadvantage of Internet in Hindi

जैसा कि मेंने आपको पहले हि यह बता दिया है कि जिस तरह हमे इन्टरनेट के आने से बहुत सारे फायदे हुये हैं। या फिर बहुत सारी समस्याओ का समाधान हमे इन्टरनेट ने दिया है। उसी तरह बहुत सारी समस्याओ ने इन्टरनेट से जन्म भी लिया है।

तो हमे इन्टरनेट के फायदो के साथ साथ जो हमे नुकसान हो रहे उन के बारे मे पता होना चाहिये इसी लिये आप लोगो Advantage and Disadvantage of Internet in Hindi के बारे मे अब बताने वाला हूँ तो चलिये जानते है-

इंटरनेट के क्या क्या फायदें हैं- Advantage of Internet in Hindi – Internet Ki Visheshta

इंटरनेट से हमे कुछ मुख्य यह फायदे होते है जो कि निम्न प्रकार से है-

  • इंटरनेट के मदद से ऑनलाइन अलग अलग सेवाएँ एकसेस करने मे और  उनकी सम्पूर्ण जानकारी लेने में सक्षम हो पाते हैं।
  • इंटरनेट के मदद से हम अपने महत्वपूर्ण दस्तावेज जैसे कि आधार कार्ड, पैन कार्ड, राशन कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, मार्क शीट, इत्यादिऑनलाइन प्राप्त कर सकते है.
  • इंटरनेट के मदद से हम  अलग अलग सोशल मीडिया प्लेट्फोर्म के जरिए अपने परिवार, रिश्तेदार, दोस्तो, आदि के साथ जुड़ रह सकते है। उनसे बातचीत कर सकते है. साथ ही फोटू, विडियों आदि भी शेयर कर सकते है.
  • इंटरनेट के मदद से हम बिजली का बिल, ट्रैन टिकट, आदि कार्य अपने फोन के जरिए कर सकते है.
  • अगर आपको कोई फोर्म भरना है तो भी आप अपने घर से इंटरनेट की मदद से आसानी से किसी भी तरह का फोर्म भर सकते हैं।

यह तो सिर्फ मेने आप लोगो को कुछ उदहारण दिये है जो कि बहुत हि कम है। इसके अलावा भी बहुत सारे फायदे हमे इंटरनेट के इस्तिमाल करने से मिलते हैं।

इंटरनेट के क्या क्या नुकसान हैं- Disadvantage of Internet in Hindi

इंटरनेट के फायदे होने के साथ साथ इसके बहुत सारे नुकसान भी है तो चलिये हम्जान लेते है कि इंटरनेट के कौन कौन से नुकसान हैं-

  • समय की बर्बादी : जब भी इंटरनेट चलाते हैं तो आपने भी यह मह्शुश किया होगा कि हम अपने काम को करने के बाद भी बहुत सारा समय की बर्बादी इंटरनेट पर कर देते हैं।

अगर आप एक बार इंटरनेट पर भटक जाते हैं तो आपका कब निकल गया तो पता भी नही चलेगा। और बहुत सारा समय इंटरनेट पर आप बर्बाद कर देते हैं।  तो इंटरनेट पर समय की बहुत ज्यादा बर्बादी होती है।

  • विश्वशनियता की कमी: इंटरनेट पर कोई भी जानकारी शेयर कर सकता है। बहुत सारे अलग अलग प्लेट फोर्म है जहाँ पर लोग एक हि रात में स्टार बन गए. लेकिन यही आजादी इंटरनेट को एक कचरे का डेर बना रही है।

क्योंकि इंटरनेट पर कोई भी जानकारी शेयर कर सकता है फिर चाहे वो सही हो या गलत यहि आजादी इंटरनेट को खराब कर रही है। और इसी वजह से हम किसी भी जानकारी पर आंख बंद करके भरोसा नही कर सकते हैं।

  • इंटरनेट फ्री नही :  आप सभिउ इस बात को जानते हैं कि इंटरनेट फ्री में नही मिलता है इसके लिये हमे अलग अलग कम्पनी को पैसे देने पडते है। लेकिन जब हमे इंटरनेट की आदत लग जाती है तो फालतू मे हम लोग अपने पैसे की बर्बादी करते हैं। फिर चाहे हमे इंटरनेट की जरुरत हो या नही।
  • प्राइवेसी को खतरा: जब भी हम इंटरनेट चलाते है तो हम अलग अलग साइट पर अपनी पर्शनल जानकारी भी शेयर करते हैं। जो हमारा निजी डेटा है और औनलाइन की दुनिया मे यही निजी डेटा हमारी सम्पती है। तो अगर आप भी इंटरनेट चलाते हैं तो इस चीज से सावधान हो जाइये कि औनलाइन की दुनिया आपकी प्राइवेसी को खतरा हमेशा बना रहता है। जो कि सही नही है।
  • साबर अटेक: इनटरनेट पर बहुत सारे साबर अटेक होते रहते है। जिसमे आपका प्रशनल डेटा भी लीक हो सकता है। और आपके बहुत सारे ऐसे साबर अटेक भी होते है। जिसमे आपके बहुत सी बार अकाउंट भी हैक हो जाते हैं। तो यह भी अपने आप मे एक बहुत बडी कमी है जो नही होनी चाहिये।

मेंने अभी आपको कुछ मुख्य इंटरनेट इस्तिमाल करने के नुकसान बताये हैं। इसके अलावा भी बहुत सारे ऐसे हि और भी नुकसान है जो कि हम नजर अंदाज कर देते है। और ध्यान नही देते है। और यह नुकसान कभी कभी हमरे लिये भारी पड सकते हैं।

भविष्य में इंटरनेट

जिस प्रकार वर्तमान में इंटरनेट का उपयोग हर जगह हो रहा है। पहले के समय में इंटरनेट को उपयोग सिर्फ कंप्यूटर में किया जाता था परंतु आज मोबाइल, घड़ी, और टीवी हर जगह इसका उपयोग अधिक हो रहा है।

वर्तमान को देखकर यह अनुमान लगाया जा सकता है कि भविष्य में इंटरनेट का उपयोग इतना बढ़ जाएगा कि हमारे आसपास सभी चीजों में इंटरनेट का इस्तेमाल होने लगेगा। इंटरनेट के अधिक उपयोग से लोगों को खतरा भी है।

जिस प्रकार देखा जाए तो 4G इंटरनेट क्या है ऐसे कई पक्षियों की मृत्यु हो रही है क्योंकि इंटरनेट से निकलने वाले रेडिएशन उनके शरीर में घातक साबित हो रहा है। और कई सारे वैज्ञानिक है जो 5G इंटरनेट बनाने के  प्रयास में लगे हुए हैं 5G इंटरनेट के इस्तेमाल से जीवो की मृत्यु अधिक हो जाएगी।

इंटरनेट का इस्तेमाल जिस प्रकार लोगों के लिए लाभकारी हो रहा है, उससे ज्यादा हानिकारक साबित होता जा रहा है। भविष्य में हर जगह इंटरनेट दिखेगा जो कि मनुष्यो को विलुप्त कर सकता है।

Application of Internet in Hindi – Uses of Internet in Hindi

  • Online Education
  • ओनलाइन बिल भुगतान – Pay Online Bills
  • सूचना आदान प्रदान करने मे – Send And Receive Information
  • ओनलाइन ओफिस काम – Online Office Work
  • Online Shopping
  • Bussiness Promotion
  • Gaming – Entertainment
  • Freelancing
  • Entertainment

हमने क्या सीखा:

इस पोस्ट के माध्ययम से हमने आपको बताया कि Internet kya hai? इंटरनेट क्या है? और हमारे लिये क्या क्या इंटरनेट के फायदें और नुकसान हैं।

यह सभी जानकारी हमने आपको सरल हिंदी मे समझाने कि कोशिश कि है। हमे उम्मीद है कि आपको यह पोस्ट Internet kya hai? और हमारे लिये क्या क्या इंटरनेट के फायदें और नुकसान हैं। आपको अच्छे से समझ मे आ गया होगा। लेकिन अगर आपके फिर भी कोई सवाल है और कोई जानकारी आपको समझ में नही आई हो तो आप हमे कमेंट करके पूछ सकते हैं।

हम आपके जितने भी सवाल होंगे उनके जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे और इसी तरह कि नयी और अच्छी से अच्छी जानकारी देने की कोशिश करेंगे।

4 thoughts on “इंटरनेट क्या है? और इंटरनेट के फायदें और नुकसान हैं।”

Leave a comment