लोगों की बदलती सोच:सिंगापुर के 64% लोग चीन को अमेरिका से अच्छा मानते हैं, वहां रहने वाले भारतीयों की भी यही राय

सिंगापुर के लोगों का झुकाव अमेरिका से ज्यादा चीन की तरफ बढ़ रहा है। यह बात जून 2021 में जारी प्यू रिसर्च सेंटर सर्वे में सामने आई है। सिंगापुर के 64% लोग चीन को अमेरिका की तुलना में ज्यादा पॉजिटिव मानते हैं। वहां बसे 52% भारतीयों और 45% मलेशियाई नागरिकों का भी यही मानना है।

सिंगापुर में रहने वाले 72% चीन के लोग भी चीन के साथ हर दम खड़े रहने की बात कहते हैं। ये सभी लोग अमेरिका को आर्थिक और सैन्य शक्ति के तौर पर चीन से कमजोर मानते हैं। कम्युनिस्ट विचाराधारा के बावजूद चीन के प्रति लोगों की विचारधारा में ये बदलाव एक 50 साल के व्यक्ति माइकल चैन के कारण आया है।

माइकल चैन ने बदली लोगों की सोच
चैन ट्यूशन बिजनेस के जरिए दुनिया का सबसे बड़ा ऑनलाइन क्लास रूम चलाते हैं। पिछले 10 सालों में उनके फॉलोअर्स लाखों में पहुंच गए हैं। चैन का कहना है कि चीन में सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर प्रतिबंध लगने के कारण दुनिया के लोग चीन से कटे हुए हैं। इसलिए सही जानकारी पहुंचाने के लिए वह ऐसा करते हैं। चीन का विदेश मंत्रालय भी इन दिनों इस तरह के प्रयास कर रहा है।

सिंगापुर के लोगों का मानना है कि चीन तेजी से विकसित हो रहा देश है। इसने जापान को पीछे छोड़कर तेजी से हर क्षेत्र में अपनी बढ़त बनाई है। पिछले साल सितंबर में फ्रांसीसी थिंक-टैंक ने सिंगापुर को चीनी प्रभाव में कमजोर माना था, पर अब ऐसा नहीं है।

कैंपेन चलाकर चीन कर रहा सिंगापुर की मदद
चीन कुछ साल से सिंगापुर की कॉन्फ्रेंस आयोजित करने में मदद कर रहा है। विदेश यात्रा और विदेश में पढ़ाई के लिए चीन ने पूरा रोड मैप तैयार कर लिया है। चीन यहां गांव-गांव में कैंप लगाकर यंग सिंगापुर बनाने की तरफ तेजी से काम कर रहा है।

Add a Comment

Your email address will not be published.